दो हफ़्ते में मोदी सरकार करने वाली है ऐसा धमाका कि पाकिस्तान की हालत होगी बेहद ख़राब,चीन भी रोएगा !

‘भारत सरकार एक लाख टन गेहूं अफगानिस्तान भेजने जा रही है और सबसे बड़ी बात जो हम आपको बताने जा रहे हैं जो चीन और पाकिस्तान के मुहँ के ऊपर भारत का जोरदार थपड है वो यह कि भारत सरकार अफगानिस्तान जो गेहूं भेजने वाली है वो चाबहार पोर्ट के जरिये जाएगा !

चीन-पाकिस्तान ‘गठबंधन’ को भारत ने दिया ईरान के चाबहार पोर्ट के जरिये जवाब.आपकी जानकारी के लिए हम बता दें कि भारत और ईरान दोनों देशों ने ओमान की खाड़ी के पास चाबहार बंदरगाह को विकसित करने का फैसला किया था.जब ये खबर आई थी तो चीन और पाकिस्तान की नींद उड़ गयी थी लेकिन अब ये सपना हकीकत बन चूका है जो पाकिस्तान को सोने नहीं देगा.यह स्‍थान ईरान की पाकिस्‍तान से लगी सीमा के बेहद करीब है.

चाबहार बंदरगाह सिस्तान-बलूचिस्तान क्षेत्र में स्थित है जो ऊर्जा के लिहाज से काफी समृद्ध है. यहां तक भारत के पश्चिमी तट से फारस की खाड़ी के रास्ते सीधा पहुंचा जा सकता है और इसके लिए पाकिस्तान को पार भी नहीं करना होगा.

Related image

अब दक्षिण पूर्व ईरान स्थित इस बंदरगाह से भारत, पाकिस्‍तान की मदद के बिना समुद्री मार्ग के जरिये अफगानिस्‍तान और मध्‍य एशिया में माल का परिवहन कर सकेगा.पाकिस्तान की नाक के निचे अब अफगानिस्तान और भारत पाक को ठेंगा दिखाएंगे.

मीडिया से मिली जानकारी के अनुसार केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने भरोसा जताया कि ईरान में चाबहार बंदरगाह 2018 तक पूर्ण रूप से परिचालन में आ जाएगा. आपको हम बता दें कि  इस समझौते पर प्रधानमंत्री मोदी की मई 2016 में हुई तेहरान यात्रा के दौरान हस्ताक्षर किए गए थे. यह समझौता भारत, ईरान और अफगानिस्तान के बीच चाबहार बंदरगाह का उपयोग करते हुए परिवहन एवं मालवहन गलियारा बनाने की अनुमति देता है.

चाबहार ऐसा पहला विदेशी बंदरगाह है जिसके विकास से भारत सीधे जुड़ा हुआ है।

The post दो हफ़्ते में मोदी सरकार करने वाली है ऐसा धमाका कि पाकिस्तान की हालत होगी बेहद ख़राब,चीन भी रोएगा ! appeared first on Hindutva.

<>

Loading...